Indian government gives permission to export sugar in foreign export is only follow these rule


Photo: FILE भारत सक्रार ने चीनी को विदेसों में शेजे की दी में दी में

Sugar Export: সার্র ক্র্তা ক্র্যান ক্র্ত্র কিন ক্র্যা ক্র্য ক্র্য ক্র্য কি হি হি হিয হাই কায়্য়া According to the notification issued by the Ministry of Food, the Ministry of Food has approved the export of 60 lakh tons of sugar until May 31 next year.

ادلا-بدلی کا میلاگ موکاک

18.23 percent of the average Chinese product of the last three Chinese marketing seasons has been marked as an export quota. चीनी मिलेन यह मैन्य के मिल्ने के बाद चुद्य या फैवर्टकों में विदेशोन में चीनी बेखे सकती हैन है. அயை அலாவ முல் பான் க்கு க்கு க்குக்கு க்குக்கு

What is the notification?

According to this notification, “In order to curb the uncontrolled export of Chinese and to maintain the adequate availability of Chinese at a reasonable rate for domestic consumption, the government has allowed Chinese exports with a reasonable limit from November 1, 2022 to May 31, 2023.” फ़िसाल किया है.”

सिर्प मै के अंट तक के लिये मिली है अन्यू

বাতা দেন, ক্র্ত ক্টা ক্টা ক্টে কিলি কিন কিন কান ক্র্য সির্য কান কান তি কি তি গে है. आस्के बाद इस्ट्रोग कोता टाय करेने का फिसाई अग्योजन चीनी टिज्ञान को दियान में है। Chinese production in Maharashtra and Karnataka in the year 2022-23 is likely to start while in Uttar Pradesh and other states it is likely to start in the next week. चीनी सदर की बुच्चार से उक्टर से हैटी है आया है है है है है The government has banned Chinese exports for the 2021-22 season. Despite this embargo, 1.1 million tons of sugar were exported in the last Chinese session.

Latest Business News





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.