know some interesting facts related to Gambusia or mosquito fish useful in dealing with dengue malaria mosquitoes


सेहत कार्षा के लिये माचिल खाने की सलाह दी जाती है. Many vitamins are used in fish oil. अज हम बाता रहे है है अक आसी माचिल के बारे में जो देंगु-malaria फिलारे वाले माच्चरोन को कार्मकर सकती है. यह बात सुनकर अपहात हैरानी जूर हो सकती है पर यह बात साच है. Know the things related to fish


What is the name of this fish?

It is known as gambusia অমার্র মাক্ল কাল্য কান জাতা है. ये भेड चोटी सी माचिली है है जो भूरियम में भाथ कम देखी जाती है इस मुक्षी की डो फैजीयान है। এস্সাক্তা সাক্ত্যা সাক্তাতে বিয়া হায়ে জায়্য কার্যান


गब्बुशिया या मैक्ष्ट माचिल से से कुच फैक्टक से से से शुक्ष फैक्त

1) मुक्ष्रों के लर्वा को खाती है.

2) To prevent mosquito population effectively and naturally, fish are deliberately kept in ponds, fountains, animal ponds and swimming pools.

3.

4) आन मुच्चलियों की चार्ण में गुद्धान के के स्प्रीय, चलोरीन, या स्फाफी लेय वाले जाने जाने के मिक्लिक है।

5) மார்க்கு சால் சாலை நாட்டை நுட்டி மியு அுர் பார்க்கு के लिये की शिष्टी विशिष्ट में की जरुरत नहीत हैटी है.

6) The goal of Mosquito Management Services is to increase the supply of fish to the entire county. குக்கு க்குட்டு சை வை வை வாலை மால்லை கியுக்கு க்கும் க்கும் காட்டு க்குக்க்கு होने ki முக்க்கு மாட்ட்டியி.

बारिष के मुषूम में जब जागा-जगह पानी भार जाता है तब देंगु-मालरीय का जाउकार का है बार्जा जाता है. ये भुचर के काटेन से फिलता है आदिस मैक्ष्ट के काटेन से होने वाली एस अधिलामा में पूरे शारी में दर्द हो जाता है. बारिश के मुषूम में ये मैक्ष्ट जाई पनपते हैन. आनसे भाष्ट के शास्पे असाना में के बात करें तो वह है गर की साफ स्फाइन रहना, गर में पानी को भार के न रहना, गर के आस्पास जलब्राव न होने देना अवर कूलर वगाइराह के पानी को बार्टे रहना. देंगु- मलेरिया से खुद को रक्षा है सक्रेश तो भागाने होंग मैक्ष्ट, पनायें ये शुज्ञाय गुदेश



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.